संथाली भाषा को राजभाषा का दर्जा देने की मांग को लेकर सीएम से मिला आदिवासी सोशियो एजुकेशनल एंड कल्चरल एसोसिएशन का प्रतिनिधिमंडल

0 214

रांची@naishuruat: आदिवासी सोशियो एजुकेशनल एंड कल्चरल एसोसिएशन के एक प्रतिनिधिमंडल ने मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन से मुलाकात की। इस दौरान प्रतिनिधिमंडल ने संताली भाषा को राजभाषा का दर्जा, ओलचिकी लिपि को मान्यता देने की मांग की। उन्होंने कहा कि झारखंड के लोगों की यह पुरानी मांग है और हमें इस सरकार से ही उम्मीद है। इसके साथ ही उन्होंने कोल्हान विश्वविद्यालय के अतिथि शिक्षकों की समस्या के समाधान हेतु मुख्यमंत्री से अनुरोध किया। प्रतिनिधिमंडल के सदस्यों ने बताया कि विश्वविद्यालय के अतिथि शिक्षकों को करीब 8 माह से मानदेय नहीं मिला है जो कि इस करो ना कॉल में उचित नहीं है। वही सीएम ने प्रतिनिधिमंडल के सदस्यों को उनके सभी मांगों पर उचित निर्णय का आश्वासन दिया। उन्होंने कहा कि अगर किसी शिक्षक को 8 माह से मानदेय नहीं मिला है तो यह सही नहीं है। वे इसका संज्ञान लेंगे।

Leave A Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!